क्या आपको पता है दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची प्रतिमा के बारे में आइये जानते है

स्प्रिंग टेंपल बुद्धा’ भगवान बुद्ध की मूर्ति यह मूर्ति चीन के हेनान प्रांत में लूसान नामक जगह पर साल 2002 में स्थापित की गयी है। भगवान बुद्ध की इस मूर्ति की ऊंचाई 153 मीटर है।

बुद्ध की एक सबसे विशालकाय बुद्ध प्रतिमा है, जो कि हेनान के जाओकुन कस्बे (लुशान काउन्टी) में, चीन में स्थित है।

स्टेचु ऑफ यूनिटी के बाद यह विश्व की सबसे बड़ी प्रतिमा है।

Advertisement

यह बुद्ध मूर्ती 128 मीटर यानी 420 फुट ऊँची है जिसमें कि 20 मीटर यानी 66 फुट ऊँचा कमल-सिंहासन भी शामिल है, तथा यह संसार की सबसे ऊँची प्रतिमा है।

यदि इसके 25 मीटर 82 फुट ऊँचे आधार/भवन को भी गिन लिया जाये तो इसकी कुल ऊँचाई 153 मीटर यानी 552 फुट हो जाती है। अक्टूबर 2008 के अनुसार इसके आधार को नई शक्ल दी जा चूँकी है और अब इसकी ऊँचाई 208 मीटर यानी की 682 फुट हो गई है।

और भी पढ़े…. दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा के बारे में

Advertisement

स्प्रिंग टैम्पल बुद्धा के निर्माण की योजना की घोषणा अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा बामियान के बुद्ध प्रतिमाओं के ध्वंस के तुरंत बाद की गयी थी। चीन ने अफगानिस्तान में बौद्ध धरोहर के योजनाबद्ध विनाश की निंदा की थी।

दुनिया के सबसे ऊँचे स्टैच्यू में शामिल भगवान बुद्ध की इस प्रतिमा को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज किया गया है।

भगवान बुद्ध की इतनी विशालकाय प्रतिमा 108 किलोग्राम सोने, 3,300 टन तांबा मिश्र धातु और 15,000 टन स्टील से बनी है। इस मूर्ति को देखने आने वाले पर्यटक इस मूर्ति के पैर की उंगलियों को छूकर यह महसूस कर सकते हैं कि वास्तव में यह मूर्ति कितनी विशाल है।

Advertisement

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सबसे ऊंची बुद्ध की प्रतिमा तक पहुंचने के लिए कुल मिलाकर आपको करीब 1000 सीढ़ियां तो चलकर तय करनी ही होती हैं।

वहीं इस विशालकाय मूर्ति के नीचे एक बौद्ध मठ भी है। इस प्रतिमा को देखने दूर-दूर से पर्यटक आते हैं और भगवान बुद्ध की अद्भुत प्रतिमा के दर्शन करते हैं।

आइये जानते है …26 जनवरी 2019 को पुरस्कार प्राप्तकर्ताओ के नाम

Advertisement
Spread the love