पाक द्वारा सार्क सम्मेलन में मिले आमंत्रण को भारत ने ठुकराया

भारत ने पाकिस्तान को जबरदस्त झटका दिया-

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे घमासान के बीच भारत ने पाकिस्तान सरकार को जबरदस्त झटका दे दिया है । मोदी सरकार ने पाकिस्तान के सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए भेजे निमंत्रण को ठुकरा दिया है । मंगलवार को ही पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने सम्मेलन में भारत के भाग लेने के लिए निमंत्रण भेजनी की बात कही थी।

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता फ़ैसल ने कहा –

Advertisement

पाकिस्तानी मीडिया ने वहां के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मौहम्मद फैसल के हवाले से घोषणा की थी कि पाकिस्तान की तरफ से प्रधानमंत्री मोदी के सार्क सम्मेलन में शिरकत के लिए आमंत्रण भेजा जाएगा। साल 2016 में उरी हमले के बाद पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन का भारत सहित सभी देशों ने बायकॉट कर दिया था । ऐसे में इस सम्मेलन को सफलतापूर्वक कराने के लिए पाक कोई कसर नहीं छोडना चाहता है ।

सार्क सम्मेलन की तारीख – 

सार्क सम्मेलन के लिए तिथि सभी सदस्यों की सहमति के आधार पर तय की जाती है । तारीख तय होने के बाद ही सदस्य राष्ट्रों को औपचारिक निमंत्रण भेजा जाता है ।

Advertisement

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने हमें बताया की भारत सार्क सम्मेलन में कोई विशिष्ट अतिथि नहीं है। जिसके लिए पाकिस्तान खास निमंत्रण भेजेगा। सार्क का भारत अभिन्न हिस्सा रहा है । सभी सदस्यों की सहमति के आधार पर ही सार्क सम्मेलन की तारीख तय की जाती है । हालांकि, यह अफसोसजनक है कि इस बार ऐसा नहीं हुआ।

‘पाकिस्तान के उच्चस्तरीय सूत्रों का कहना है कि ऐसे वक्त में जब करतारपुर कॉरिडोर खुलने के मोके पर बडी संख्या में भारतीय मीडिया मौजूद है, यह घोषणा पाकिस्तान ने ध्यान खींचने के लिए की । हालांकि, राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि पाकिस्तान का दांव उल्टा पड़ सकता है। इस वक्त बांग्लादेश में चुनाव की हलचल तेज हे और दूसरी तरफ श्री लंका में राजनीतिक संकट जाऱी है । ऐसे प्रतिकूल हालात में तीनों देश तत्काल सम्मेलन के लिए अपनी सहमति दें, इसकी संभावना बहुत कम है ।

Advertisement

Advertisement
Spread the love