घंटामिनटसेकंड

कुंडली के बारे में सामान्य जानकारी 

यह कुंडली चार्ट या लग्न चार्ट है| 

पहला घर (लग्न भाव)

Advertisement

कुंडली का पहला घर आपकी का व्यक्तित्व, छवि, भौतिक/शारीरिक विशेषताओं, स्वास्थ्य, स्वभाव, नई शुरुआत, ताक़त और आप नजरिये का प्रतिनिधित्व करता है। यह परिस्तिथियों और प्रतिष्ठा, समृद्धि, विचारो भावो और शरीर के अंगों को दर्शाता है। कुंडली के पहले घर को लग्न भाव भी कहते हैं। 

दूसरा घर (धन भाव)

कुंडली का दूसरा घर आपके पारिवारिक माहौल सम्बन्धो, संपत्ति, धन दौलता, कमाई, व्यापार, वित्त, भाग्य, आर्थिक, वित्तीय मामलों, व्यहारिक बोल चाल, अभिव्यक्ति, सामाजिक मान सम्मान, प्रतिष्ठा, मृत्यु, khan पैन की आदतों का प्रतिनिधित्व करता है। इस घर को धन भाव भी कहा जाता है। 

Advertisement

तीसरा घर (ब्रतरू भाव)

कुंडली का तीसरा घर आपके रिस्तो, लगाव, स्नेह, यात्रा, आदत, मानसिक बुद्धि, कलात्मकता, साहस, सामाजिक संबंध, बौद्धिकता, रुचि, बहादुरी, पड़ोसियों, मौखिक अभिव्यक्तियों, स्कूली शिक्षा या प्रारंभिक शिक्षा, सामुदायिक मामलों, स्थानीय यात्रा और बाकी सभी संचार प्रणालियों का प्रतिनिधित्व करता है। इस घर को सहज भाव भी कहा जाता है।

कुंडली का चौथा घर ( सुख भाव)

Advertisement

कुंडली में चौथा जी की  बंधु भाव कहलाता है, घर आपके धन, संपत्ति,  जमीन, ज्यादाद, मकान, गाड़ी, पारिवारिक मूल्य एवं परंपराओं, सामाजिक मानदंड, विरासत, शिक्षा संस्कार,रिस्तो के साथ संबंध, पारिवारिक लगाव , भावना, संतुष्टि, शांति, संस्कृति से जुड़े मामलों का प्रतिनिधित्व करता है

कुंडली का पांचवां घर (पुत्र भाव)

पांचवां घर जो की पुत्र भाव भी कहलाता है, आपके जीवन में सुख, बुद्धि, योग्यताओ, क्षमताओं, रचनात्मकता, कला कौशल, बाल बच्चे  , बालको के साथ संबंध, बाल बच्चे , पारिवारिक विस्तार, अभिव्यक्ति, गृहस्ती, सामाजिक झुकाव, भाग्य, ज्ञान और उच्च शिक्षा का प्रतिनिधित्व करता है। 

Advertisement

छठा घर (शत्रु भाव)

कुंडली का छठा घर शत्रु या आरी भाव भी कहलाता है, आपके कल्याण, शारीरिक शक्ति, स्वास्थ्य, संकट, रोग, विपक्ष, शत्रु,  दुर्भाग्य, रोजगार, सेवा, बाधा, परेशानी, उपचार शक्ति, ऋण, प्रतिरक्षा प्रणाली, आहार, सहकर्मियों, श्रमिकों और आत्म-अनुशासन का प्रतिनिधित्व करता है 

सातवां घर (कलत्र भाव)

Advertisement

कुंडली का सातवां घर  कलात्रा भाव कहलाता है जो आपकी हिस्सेदारी, वैवाहिक सम्बन्ध, पति-पत्नी से संबंधित मामले, स्वामित्व, यौन कल्पना, समझदारी, प्रतिबद्धता, प्रजनन प्रणाली, बच्चों, व्यापार संगठनों, कानूनी और घरेलू मामलों और प्यार का प्रतिनिधित्व करता है। 

आठवां घर (अयूर भाव)

कुंडली का सातवां घर जो की आयु भव के नाम से भी जाना जाता है, आपकी दीर्घायु, स्वाथ्य, बीमारी,  मृत्यु, जीवनकाल, अचानक होने वाली घटनाओं, विरासत, महत्वाकांक्षा , परिवर्तन, बुरी आदतों, शारीरिक आकर्षण, मानसिक क्षमताओं का प्रतिनिधित्व करता है। 

Advertisement

नवां घर (भाग्य भाव)

कुंडली का नौवां घर जो की धर्म भाव है, आपके आध्यात्मिक लगाव, पूजा-पाठ, धार्मिक प्रवृत्तियों, अच्छे कर्म, मूल्य, धर्म, नैतिकता, ईमानदारी, लंबी दूरी की यात्रा, तीर्थयात्रा, विदेशी यात्रा, आप का परिवार के साथ संबंध और पिता के साथ संबंध, और ज्ञान का प्रतिनिधित्व करता है।

दसवां घर (कर्म भाव)

Advertisement

कुंडली का दसवां घर जो की कर्म भाव भी कहलाता है, आपके काम, नौकरी- पेशे, व्यवसाय, करियर,  आधिकारिक लोगों के साथ संबंध, क्षमताओं, उपलब्धियों, इच्छाओं, प्रसिद्धि, मान्यता, पेशेवर प्रयासों, मानसिक शक्ति और वित्तीय तरक्की का प्रतिनिधित्व करता है। 

ग्यारवां घर (लाभ भाव)

कुंडली का ग्यारवां घर जो की कर्म भाव भी कहलाता है,  आपकी आय, व्यवसाय लाभ, विरासत, समृद्धि, इच्छाओं, आकांक्षाओं, आय के स्रोत, अचानक होने वाले लाभ, सामाजिक क्षेत्र, दोस्तों, सामुदायिक मामलों, अवसरों और व्यापार जुड़े मामलो का प्रतिनिधित्व करता है।

Advertisement

बारवां घर( व्यय भाव)

कुंडली का बारहवां घर जो की व्यय भाव भी कहलाता है, अंत, एकांत, अलगाव, अस्पताल, अपनों की हानि, गुप्त शत्रु, मानसिक कमजोरी, मुक्ति, मोक्ष, आत्मा की स्वतंत्रता, लंबी  और विदेश यात्रा करना, कल्पना, खर्च का प्रतिनिधित्व करता है।

Advertisement

Advertisement