संविधान विरोधी हैं बजरंग दल, शिवसेना व विश्व हिंदू परिषद-राजभर

संविधान विरोधी हैं बजरंग दल, शिवसेना व विश्व हिंदू परिषद-राजभर

लखनऊ: पहले इंसानों को ऊंच-नीच का भेदभाव पैदा कर समाज को बांटा गया। अब भगवान की जाति तय की जाने लगी हैं। हनुमान दलित, कृष्ण यादव तो वंही रामचंद्र क्षत्रिय हो गए। ऐसे में अर्कवंशी, राजभर, प्रजापति आदि कहां जाएं। भाजपा जाति-धर्म के नाम पर लड़ाने का काम कर रही है।
यह बात कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कही। राजभर सुल्तानपुर जाने से पहले वह पत्रकारों से यह बात कही ।

उन्होंने कहा कि सरकार असल मुद्दों पर ध्यान नहीं दे रही है। भाजपा सांसदों और विधायकों को जनसमस्याओं के लिए धरना तक देना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि बजरंग दल, शिवसेना व विश्व हिंदू परिषद संगठन संविधान विरोधी हैं। यह संगठन सुप्रीम कोर्ट को नहीं मानते है। राम मंदिर मसले पर उन्होंने कहा कि चुनाव के समय ही भाजपा को भगवान राम याद आते हैं।

वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के बाद भगवान राम को भुल गए। अब एक बार फिर लोकसभा चुनाव नजदीक आ गया है तो उन्हें फिर भगवान राम की याद आने लगी।

Advertisement
Advertisement
Spread the love