इधर राहुल का जश्न, उधर माफी मांगो के साथ भाजपा का राफेल युद्ध

इधर राहुल का जश्न, उधर माफी मांगो के साथ भाजपा का राफेल युद्ध

कांग्रेस पार्टी राजस्थान, छत्तीसगढ़ और म.प्र. में जश्न की तैयारी में जुटी है। तीनो राज्यों में कुछ घंटे के अंतराल पर मुख्यमंत्रियों को शपथ दिलाने की तैयारी कर रही है। हर शपथ ग्रहण में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद जाने की योजना बना रहे हैं। इस बीच भाजपा ने उच्चतम न्यायालय द्वारा राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर दायर याचिका को आधार बताकर राफेल युद्ध छेड़ दिया है।

इधर कांग्रेस को राज्यपाल से मिले समय के अनुसार सोमवार 17 दिसंबर को सुबह 10.30 बजे के करीब जयपुर में अशोक गहलोत मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। गहलोत के सचिन पायलट भी उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। दोपहर में भोपाल में कमलनाथ के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने का कार्यक्रम प्रस्तावित है। इसी तरह से 4.30 बजे रायपुर में छत्तीसगढ़ के भावी मुख्यमंत्री को शपथ दिलाने के लिए राज्यपाल से समय लेने की पहल की जा चुकी है।

उधर भाजपा ने इसी दिन को पूरे देश में राफेल लड़ाकू विमान को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस पर हमले के लिए चुना है। भाजपा के प्रवक्ता, मंत्री, वरिष्ठ नेता, केन्द्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री देश के करीब सत्तर स्थानों पर इसे लेकर प्रेसवार्ता की तैयारी कर रहे हैं। अभी तक का यह भाजपा का सबसे बड़ा अभियान है, जब पार्टी के शीर्ष नेताओं, मुख्यमंत्रियों, पूर्व मुख्यमंत्रियों और केन्द्रीय मंत्रियों को एक साथ राफेल का सच बताने के लगाया गया है। लेकिन इसे 2019 में प्रस्तावित लोकसभा चुनाव की तैयारियों से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

Advertisement
Advertisement
Spread the love