जब नेता दिल में नहीं तो उसका झंडा हाथ में कहाँ रहेगा - तेजश्वी यादव

जब नेता दिल में नहीं तो उसका झंडा हाथ में कहाँ रहेगा – तेजश्वी यादव

बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ‘संकल्प रैली’ को संबोधित किया। हम आप को बता दे की पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में किसी चुनावी रैली को एक साथ संबोधित किया है। इस रैली में इन दोनों नेताओं के अलावा राजग में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान भी संबोधित थे।

हम आप को बता दे की जितनी भीड़ जुटाने की योजना बनाई गयी थी इस रैली में बीजेपी और उसके सहयोगी दल जनता दल यूनाइटेड मिल कर भी उतना भीड़ इकठ्ठा न कर सकी । बताया जा रहा है की पटना के गाँधी मैदान का 40% हिस्सा भी न भर पाया था । इतना ही नहीं बताया जा रहा है की पूरी रैली को जनता दल यूनाइटेड ने टेक ओवर कर लिया था।

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और नेता तेजस्वी यादव ने तंज करते हुए ट्विट किया और लिखा “जब नेता दिल में नहीं तो उसका झंडा हाथ में कहाँ रहेगा? जिस पार्टी का मुखिया मौसम पलटने से पहले पलटी मारता हो तो समर्थक उसके झंडे कूड़ेदान में ही फेंकेंगे। धननेता की भीड़ उसके साथ यही हश्र करती है। धननेता बनने के किए पलटी मारनी पड़ती है और जननेता बनने के लिए संघर्ष करना पड़ता है।”

Spread the love