सोनिया गाँधी का पलटवार, कुछ लोग काम करते हैं और कुछ श्रेय लेते हैं

सोनिया गांधी का पलटवार, कहा – कुछ लोग काम करते हैं और कुछ श्रेय लेते हैं

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर करारा हमला किया है। हलाकि उन्होंने पीएम का नाम लिए बिना मनमोहन सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि कुछ लोग काम करते हैं और कुछ लोग श्रेय लेते हैं।

उन्होंने इंदिरा गांधी की जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में सोनिया ने प्रधानमंत्री मोदी का नाम लिए बिना हमला किया और कहा कि कुछ लोग काम करते हैं और कुछ लोग श्रेय लेते हैं। ये बात उन्होंने इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कही। इतना ही नहीं सोनिया जी ने पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी अपना प्रचार नहीं किया और न ही कभी उन्होंने किसी काम का श्रेय नहीं लिया। कार्यक्रम के दौरान सोनिया ने कई बार मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी की तुलना करती दिखीं।

सोनिया गांधी ने कहा कि मनमोहन सिंह वे शख्स रहे हैं, जिन्होंने इंदिरा गांधी के साथ डेढ़ दशक तक काम किया और ये बड़ी-बड़ी बातें करने वाले नहीं, खुद की तारीफ करने वाले इंसान नहीं हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की तारीफ करते हुए सोनिया ने कहा कि उन्होंने कभी भी खुद के लिए कुछ नहीं मांगा। बाद में देश के प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने भारत के लिए दुनिया भर में सम्मान अर्जित किया और सोनिया गांधी जी ने कहा कि आने वाले कई वर्षों तक हम मनमोहन सिंह की सलाह और मार्गदर्शन लेते रहेंगे.

Advertisement

इससे पहले ही छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली करते हुए कांग्रेस परिवार पर करारा हमला किया था और उन्होंने ने भाषण में कहा था, ‘मेरा सवाल है कि पांच साल के लिए इस परिवार से बाहर के एक व्यक्ति को अध्यक्ष बनाकर देख लीजिए. देश को पता है कि सीताराम केसरी दलित, पीड़ित और शोषित समाज से आए हुए व्यक्ति को पार्टी अध्यक्ष से कैसे हटाया गया था? कैसे बाथरूम में बंद कर दिया गया था? कैसे दरवाजे से निकालकर फुटपाथ पर फेंक दिया गया था? इसके बाद मैडम सोनिया जी को बैठा दिया गया था.’

इस पर कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने ट्वीट कर लिखा कि क्या ये सच नहीं कि जब भारतीय जनता पार्टी के पहले और एकलौते दलित अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण का निधन हुआ तो उनके अंतिम संस्कार में लालकृष्ण आडवाणी के अलावा कोई और पार्टी का बड़ा नेता मौजूद नहीं था.

Advertisement
Advertisement
Spread the love