आखिर क्यों अभी तक बीजेपी महाराष्ट्र में सरकार गठन नहीं कर पा रही है जाने क्या है कारण

आखिर क्यों अभी तक बीजेपी महाराष्ट्र में सरकार गठन नहीं कर पा रही है ? जाने क्या है कारण

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे आने के छठे दिन भी सरकार गठन न होने के पीछे भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन (Shahnawaz Hussain) ने दीवाली और भाई दूज त्योहारों को कारण बताया है। इतना ही नहीं  उन्होंने राज्य में भाजपा नेतृत्व कीसरकार बनने में देरी के सवाल पर कहा, ‘नतीजे के बाद दीवाली और भाई दूज के पवित्र त्योहार आ गए। विधायक छुट्टी पर चले गए हैं, उनके लौटते ही विधायक दल की बैठक होगी और भाजपा नेतृत्व की सरकार बनेगी। राज्य की जनता ने भाजपा नेतृत्व सरकार के पक्ष में स्पष्ट बहुमत दिया है।’

हम आप को बता दें कि सरकार गठन के लिए बीजेपी ने 30 अक्टूबर को विधायक दल की बैठक बुलाई है, जिसमें मुख्यमंत्री पद के लिए एक बार फिर से देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के नाम पर मुहर लगेगी। बीजेपी का मानना है कि विधायक दल की बैठक होने तक शिवसेना (Shiv Sena) से सरकार में पदों के बंटवारे को लेकर बातचीत सुलझ जाएगी। हम बता दे की इस बार विधानसभा चुनाव में पिछली बार की तुलना में भाजपा की 17 सीटें कम हो गईं, शिवसेना को भी सात सीटों का नुकसान सहना पड़ा। इसके बाद से शिवसेना भाजपा पर पदों के बंटवारे को लेकर आक्रामक है।

चुनाव नतीजे आने के दिन 24 अक्टूबर को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने 50-50 फॉर्मूले की बात उठाकर ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद पर शिवसेना का भी दावा ठोक दिया था। जबकि भाजपा शिवसेना को मुख्यमंत्री पद देने से इंकार कर रही है। भाजपा शिवसेना प्रमुख के बेटे आदित्य ठाकरे को ज्यादा से ज्यादा डिप्टी सीएम (उप मुख्यमंत्री) का पद देने को तैयार है। तब से भाजपा और शिवसेना के बीच सरकार बनाने को लेकर पेंच फंसा है।  जबकि हरियाणा में बीते रविवार को ही भाजपा-जननायक जनता पार्टी (जजपा) गठबंधन की सरकार बन चुकी है।

ये भी पढ़े : भाजपा और शिवसेना में तकरार, शिवसेना ने रद्द की बीजेपी के साथ होने वाली बैठक

Spread the love