भाजपा सरकार के पास नागरिकों की मूल समस्याओं का समाधान नहीं - अखिलेश यादव

भाजपा सरकार के पास नागरिकों की मूल समस्याओं का समाधान नहीं – अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था भाजपा सरकार के नियंत्रण में नहीं रह गई है। हालात दिन पर दिन गंभीर होते जा रहे हैं। हत्या, लूट, बलात्कार और आत्महत्या की घटनाएं आए दिन की बातें हो गई हैं। चारों तरफ निराशा भरा धुंधलका है। लोेगों में आक्रोश है कि भाजपा सरकार के पास नागरिकों की मूल समस्याओं का समाधान नहीं है। ऐसा लगता है कि जैसे प्रशासन पंगु हो गया है और भाजपा सरकार की राजनीतिक इच्छा शक्ति आखिरी सांसे ले रही है।

 कन्नौज पर अखिलेश यादव ने कहा की कन्नौज के सौरिख क्षेत्र की किशोरी एक भाजपा नेता के खिलाफ दुष्कर्म और ब्लैकमेल का मुकदमा दर्ज कराने के लिए भाजपा राज में गोमतीनगर थाने के चक्कर लगाती रही। पुलिस द्वारा प्रकरण को दबाए जाने से आहत किशोरी ने जहर खा लिया तब पुलिस हरकत में आई। कन्नौज में ही बेखौफ बदमाशों ने छिबरामऊ के प्रेमपुर में ढ़ाबा मालिक की गोली मारकर नृृशंस हत्या कर दी। वहां दहशत का माहौल है।

इतना ही नहीं उन्हीने कहा  की अकबरपुर के विकासखण्ड सकरन में मजलिसपुर निवासी कक्षा-8 की बच्ची ने भूख से परेषान होकर खुद को आग के हवाले कर दिया। पिता भूमिहीन है और मजदूरी करता है। वहीं मंगलपुर झींझक के बहबलपुर गांव के एक विद्यालय में पढ़ रही छात्रा की गोली मारकर हत्या करने वाला अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। आरोपी सोशल मीडिया पर छात्रा की तस्वीरें वायरल कर रहा है।

इतना ही नहीं महोबा के कुलपहाड़ के कमालपुरा गांव के किसान अनिल राजपूत की 40 बीघा में बोई गई उड़द की फसल अतिवृृष्टि में ज्यादातर चैपट हो गई। स्टेट बैंक से 2,40000 का कर्ज बढ़कर 4,25,000 हो गया। साहूकारोे का भी उस पर कर्ज था। बैंक की नोटिस मिलने पर सदमे में उसकी दीपावली के दिन मौत हो गई। 16 अक्टूबर को एक किसान मुन्ना सैनी फसल बर्बाद होने पर खुदकुशी कर चुका है। महोबा के तहसील कुलपहाड़ के बौरा निवासी सुख सिंह पर बैंक का कर्ज था। उसकी कर्जमाफी नहीं हुई थी। मृृतक की पत्नी मुम्बई में मजदूरी करती हैै। दीवाली के त्योहार पर वह घर आई थी तभी पति ने फांसी लगाकर जान दे दी।

हम आप को बता दे की बांदा में बिसंडा थाना क्षेत्र के अलिहा गांव में अन्ना मवेशियों द्वारा फसल चर जाने से राकेश इतना सदमे में चला गया कि वह लड़खड़ाकर खेत में गिर गया। उसने वहीं दम तोड़ दिया। खेत में अरहर, मूंग और धान की फसल बोई गई थी।

उन्होंने कहा की भाजपा राज में थाना पुलिस तो अब दिखावे के लिए रह गए है। अपराधियों को किसी का भय नहीं रह गया है। बांदा मंे खैराड़ा रोड पर स्थित ढाबे पर शुक्रवार रात दबंगो ने राकेश निषाद उर्फ खिलाड़ी की पहले पिटाई की और फिर अपने पैरो से दबाकर उसकी टांगे चीर डाली। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। आंवला, बरेली में भूख से और सीतापुर में इलाज के अभाव में दम तोड़ देने की घटनाएं घटी है। कौशाम्बी में चोरो ने एटीएम लूट लिया।

उन्होंने कानून व्यवस्था पर कहा की बलात्कार और हत्या से लेकर कर्ज में फंसे किसानो की आत्महत्याओं के प्रति राज्य सरकार का रवैया पूर्णतया संवेदनहीन है। बेकारो की संख्या में लगातार वृृद्धि भयावह भविष्य का संदेश दे रही है। जनता को अब भाजपा राज में अमन चैन और सम्मान से जीने की कोई उम्मीद नही बची है। भाजपा की सरकार सिर्फ दहशत और परेशानियों का पर्याय बनकर रह गयी है।

Spread the love