सपा-बसपा की वजह से, मध्य प्रदेश में कांग्रेस का वनवास खत्म

सपा-बसपा की वजह से, मध्य प्रदेश में कांग्रेस का वनवास खत्म

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में सभी 230 सीटों के परिणाम आने के बाद 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। कांग्रेस ने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया है। कांग्रेस नेता कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह समेत कई दिग्गज नेता राजभवन में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की। राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का दावा पेश किया। इससे पहले कांग्रेस ने राज्यपाल से मिलने के लिए समय मांगा था। जिस पर राजभवन ने हामी भर दी थी।

विधानसभा के सभी 230 सीटों पर परिणाम आने के बाद कांग्रेस को 114, भाजपा के 109, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को दो, समाजवादी पार्टी को एक और निर्दलीय उम्मीदवारों को चार सीटें मिली हैं। प्रदेश के विधानसभा में किसी भी पार्टी के पास सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूत होती हैं। लेकिन किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है। ऐसे में सत्ता की चाभी बसपा, सपा और चार निर्दलीय विधायकों के पास थी।

बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया है। इससे पहले सपा ने भी कांग्रेस को अपना समर्थन देने का ऐलान किया था। इस तरह से कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से काफी आगे है। और मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने जा रही है।

Advertisement
Advertisement
Spread the love