आजमगढ़ में भाजपा नेता रामविलास साहू ने लालगंज चौकी प्रभारी अनिरुद्ध सिंह से हुई गाली गलौज का ऑडियो वायरल

आजमगढ़ में भाजपा नेता रामविलास साहू और लालगंज चौकी प्रभारी अनिरुद्ध सिंह से हुई गाली गलौज का ऑडियो वायरल

Advertisement

आजमगढ़: बताया जा रहा है कि आजमगढ़ जिले के देवगांव कोतवाली के लालगंज चौकी प्रभारी अनिरुद्ध सिंह और भाजपा के वरिष्ठ नेता रामविलास साहू के बीच फोन पर जमकर गाली गलौज और एक दूसरे को देख लेने की धमकी दी गयी। ऑडियो वायरल होन पर चर्चाओं का बाजार गरम होने पर चौकी प्रभारी लालगंज अनिरुद्ध सिंह ने थाने में केस दर्ज कराया। जिसमें भाजपा नेता रामविलास साहू को आरोपी बनाया गया है।

दरअसल मामला ये है की गणतंत्र दिवस के दिन ऑडियो वायरल होने से पहले ही 25 जनवरी को ही चौकी प्रभारी ने थाने में रामविलास साहू सहित दो लोगों के विरुद्ध संबंधित धाराओं में केस दर्ज करा दिया। दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए मामले की जांच पड़ताल की जा रही। चौकी प्रभारी लालगंज अनिरुद्ध सिंह द्वारा थाने में दर्ज कराई गई रिपोर्ट के मुताबिक 24 जनवरी को जौनपुर जिले के केराकत कोतवाली क्षेत्र के सरायवीर गांव निवासी मंशा देवी पत्नी रामकीरत आटोरिक्शा में बैठकर लालगंज कस्बे से घर जा रही थी। आटो में बैठी चार अज्ञात महिलाओं द्वारा चेन काटकर भाग जाने के संबंध में उसने थाने में तहरीर दी थी। इस क्रम में जहानागंज थाने के शेरपुर गांव निवासी दिलीप यादव लालगंज पुलिस चौकी पर पहुंचा और अपनी मोबाइल से जहानागंज थाने के फिनहनी गांव निवासी किसी सचिन चौहान का फोन बताते हुए बात कराने लगा।

फोन पर बात करने वाले सचिन चौहान ने कहा कि मैं रामविलास साहू का पर्सनल सेक्रेटरी बोल रहा हूं। इतना कहते हुए उसने फोन रामविलास साहू को दे दिया। वायरल ऑडियो में रामविलास साहू ने कहा कि मैं केंद्र सरकार में मंत्री हूं। तुम्हें तुम्हारी औकात बता दूंगा। साथ ही गाली देने लगे।

26 जनवरी को वायरल हुए ऑडियो में दोनों लोग एक दूसरे को जमकर गाली देते हुए सुनाई दे रहे हैं। इस संबंध में संपर्क करने पर भाजपा नेता रामविलास साहू ने बताया कि मैं भाजपा नेता और भारतीय खाद्य निगम का सलाहकार सदस्य हूं। 24 जनवरी की रात करीब दस बजे जिस महिला के गले से चेन काटा गया था। उक्त महिला और पकड़ी गई दो अन्य महिलाओं को भी चौकी पर बैठाया गया था। पीड़ित को छोड़ने के बदले में रिश्वत मांगी जा रही थी। परिचित के नाते हमने पीड़ित को छोड़ने की बात कही तो चौकी प्रभारी फोन पर गाली देते हुए फोन काट दिया। उसने जब गाली देकर फोन काटा तो मुझे गुस्सा आया और हमने भी गलती कर दिया।

Advertisement
Advertisement
Spread the love