अयोध्या में बनने जा रही है दुनिया की सबसे ऊंची श्री राम की प्रतिमा

श्री राम की प्रतिमा बनाने का निर्णय

विश्व हिंदू परिषद की प्रस्तावित धर्मसभा में राम मंदिर निर्माण के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम मूर्ति पर अंतिम मंथन शुरू कर दिया है । योगी जी की अगुवाई में हुए प्रेजेंटेशन में तय किया गया है कि अयोध्या में दुनिया की यह सबसे ऊंची भगवान राम की प्रतिमा लगाईं जाएगी। जिसकी ऊंचाई 221 मीटर होगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को मध्य प्रदेश के चुनावी दौरे पर थे। जनसभाओं को संबोधित करने के बाद योगी देर शाम लखनऊ पहुंचे । इसके बाद अपने आवास पर उन्होंने नव्य अयोध्या प्रॉजेक्ट के तहत लगने वाली भगवान राम की प्रतिमा का प्रेजेंटेशन देखा। कुल 5 आर्किटेक्चर फर्मों ने अपनी कार्ययोजना रखी ।

Advertisement

प्रस्तावित प्रतिमा कीं ऊंचाई 151 मीटर होगी । 50 मीटर का उसका पेडेस्टल होगा । वहीँ 20 मीटर का प्रतिमा का छत्र होगा । इस प्रकार प्रतिमा की कुल ऊंचाई 221 मीटर होगी । फिलहाल दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा गुजरात में बनी 182 मीटर कीं सरदार बल्लभ भाई पटेल की है। इसको बनाने वाले कलाकार राम सुतार भी प्रेजेंटेशन के दौरान मौजूद थे।

 

Advertisement

पेडेस्टल में दिखेगा इस्वाकु वंश का पूरा इतिहास

प्रतिमा के 50 मीटर के पेडेस्टल को म्यूजियम सहित अन्य जनसुविधाओं के लिए उपयोग किया जाएगा। भगवान राम इक्ष्वाकू वंश में पैदा हुए थे। म्यूजियम में इक्ष्वाकु वंश की पूरी वंशावली, उनकी विशिष्टताओं का पूरा विवरण दिखेगा । इसमें राजा मनु से लेकर वर्तमान में राम जन्मभूमि का इतिहास, भगवान विष्णु के दशावतारों का भी पूरा चित्रण शामिल है । इसके लिए थ्री डी टेक्नोलॉजी, आडियो विजुअल की आधुनिक तकनीक सहित अन्य माध्यमों का उपयोग किया जाएगा।

साथ ही रेस्ट रूम, टिकट काउंटर सहित अन्य सुविधाएं भी पेडेस्टल में विकसित कीं जाएंगी। सरयू तट पर लगने वाली इस प्रतिमा के लिए भूमि चयन के लिए सॉइल टेस्टिंग सहित अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने का काम शुरू हो चुका है । प्रजेटेशन के दौरान अपर मुख्य सचिव पर्यटन अवनीश कुमार अवस्थी भी मौजूद थे ।

Advertisement
Advertisement
Spread the love