अयोध्या के मुसलमानों को है उनकी जान-माल का डर- जफरयाब जीलानी

Advertisement

अयोध्या के मुसलमानों को है डर

अयोध्या में मुसलमान काफी डरा हुआ और खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है । उनके जान माल को गंभीर खतरा है। खासतौर से 25 नबंबर और छह दिसंबर को । राम मंदिर को लेकर अयोध्या में आयोजन करने वाले और राज्य सरकार आपस में मिली हुई हैं । इसलिए उन पर विश्वास नहीं है ।

सुरक्षा की माँग

Advertisement

बाबरी मस्जिद ऐक्शन कमिटी के कन्वेनर जफरयाब जीलानी ने ये आशंकाएं जताते हुए राज्य के मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव गृह और डीजीपी को पत्र लिखकर अयोध्या के मुसलमानों की विशेष सुरक्षा की मांग की है । इसके साथ ही उन्होंनै अफसरों को लिखा है कि विवादित परिसर को लेकर सुप्रीम कोर्ट के द्धारा दिए गए निर्देशों व आदेशों का भी सख्ती से पालन कराया जाए नहीं तो ये सुप्रीम कोर्ट की अवमानना होगी ।

जफरयाब जीलानी ने 22 अक्टूबर को यह पत्र अफसरों को भेजा है । एडीजी कानून एवं व्यवस्था आनन्द कुमार ने बताया कि उन्हें और उनके आला अधिकारियों को इस संबंध में पत्र मिला हे। गौरतलब है कि 25 नवंबर को शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद के कार्यक्रम में लाखों लोगों की भीड जुटने की संभावना जताई जा रही है।

विश्व हिन्दूपरिषद की धर्मं सभा से एक दिन पहले अयोध्या को सुरक्षाबलों ने किले में तब्दील कर दिया है। बडी तादाद में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है । निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे लगाए गए हैं।

Advertisement
Spread the love