आजमगढ में चलती स्कॉर्पियो में शिक्षिका से गैंगरेप, विरोध में सपा का कैंडल मार्च

समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष हवलदार यादव के नेतृत्व में हाथों में कैंडिल जूलुस निकाला गया। मार्च में उपस्थित सपा नेताओं के हाथ में तमाम तरह के नारे लिखी हुई तख्तियां थीं। लोग पुलिस, प्रशासन और सरकार के विरोध में नारेबाजी कर रहे थे।

आजमगढ़ के रानी की सराय थाना क्षेत्र की रहने वाली एक 24 वर्षीय शिक्षका अगवा कर चलती स्कार्पियो में गैंगरेप किया गया है। बाद में आरोपी उसे गाड़ी से नीचे फेंककर फरार हो गया। पीडीता को न्याय दिलाने और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करना समाजवादी पार्टी के नेताओं ने शहर में कैंडल मार्च निकाला है। साथ ही आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर, सदन में मुद्दा उठाने की चेतावनी दी है। इस दौरान पार्टी कार्यालय पर गैंगरेप पीडिता और उसके परिवार के लोग भी उपस्थित रहे हैं।

इस घटना के विरोध में सपा जिला अध्यक्ष हवलदार यादव के नेतृत्व में हाथों में कैंडिल जूलुस निकाला गया। मार्च में उपस्थित सपा नेताओं के हाथ में तमाम तरह के नारे लिखी हुई तख्तियां थीं। लोग पुलिस, प्रशासन और सरकार के विरोध में नारेबाजी कर रहे थे। कैंडिल मार्च शुरू होने से पहले सपा कार्यालय में गैगरेप पीडिता, उसकी मां सहित परिवार के अन्य लोग मौजूद हैं।

गौरतलब हो कि रानी की सराय थाना क्षेत्र की रहने वाली शिक्षिका 16 नवंबर की शाम को पैदल घर जा रही थी। रास्ते में स्कार्पियो सवार चार लोग ने उसे अगवाकर लिया और चलती गाड़ी में रेप कर गाड़ी से नीचे फेंककर फरार हो गया। स्कार्पियो पर भाजपा का झंडा लगा हुआ था।

सपा का आरोप है कि पुलिस आरोपियों के प्रभाव में आकर उन्हें बचा रहा है। घटना के करीब दस दिन बाद पीडिता की तबियत खराब हो गया। तभी से उसका इलाज चल रहा है। सपा जिला अध्यक्ष ने कहा कि जल्द आरोपी गिरफ्तार नहीं तो सदन में यह मुद्दा उठाया जवाब। हवलदार ने कहा कि पीडिता का बेहतर डॉक्टर से इलाज करने पर विचार किया जा रहा है।

वैसे पुलिस का कहना है कि वह अपने दिव्य पति से बचने के लिए यह झूठी कहानी रची है। हालांकि परिवारवालों को पुलिस के खुलासे पर भरोसा नहीं है। घरों और प्रभारी निरीक्षक रानी की सराय की मांग पर डीजीजी परस्पर विजय भूषण ने यह जांच की है गैर जिले के मधुबन सर्किल की महिला सीओ को सौंपते हुए रिपोर्ट मांगी है।

Spread the love