गंगा की सफाई में गोलमाल, का खेल

गंगा की सफाई में गोलमाल का खेल

वाराणसी: वाराणसी में गंगा की सफाई के लिए तीन करोड़ की स्कीमर मशीन के लोकेशन का खेल भी नजर आ रहा है। मशीन संचालक की ओर से घाटों की सफाई का दावा किया गया है। मगर जो फोटो भेजे गए है , उन फोटो ने जगह कहीं की दिख रही है, तो लोकेशन किसी और जगह की है।
आप को बता दें की तीन करोड़ की स्कीमर मशीन को गंगा की धारा से प्लास्टिक कचरा और फूल, माला तथा पूजा सामग्री निकालने के लिए तैनात किया गया है।

नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा को प्रतिदिन मशीन से साफ-सफाई का फोटो वीडियो भेजा जाता है, इसी के आधार पर ठेकेदारों को साढे़ तीन लाख रुपये महीने का भुगतान होता है। लेकिन लोगों का कहना है कि स्कीमर मशीन अधिकांश समय गोलाघाट पर खड़ी रहती है, केवल आसपास के घाट पर कुछ देर सफाई की जाती है। कर्मचारी घाट पर बैठे ताश खेलते नजर आते हैं।

दूसरी ओर नगर निगम के अपर नगर अयुक्त का दावा है कि गंगा सफाई की मॉनिटरिंग नगर निगम के कर्मचारियों की ओर से नियमित की जा रही है। मशीन के सफाई के फोटो के आधार पर ही भुगतान होता है।

ठेकेदार के अनुसार स्कीमर मशीन की कीमत तीन करोड़ रुपए है, इसके संचालन पर करीब 3.5 लाख रुपए प्रतिमाह खर्च आता है। मशीन पर कुल 12 लोगों तैनात हैं। इनमें से 10 लोग माशीन संचालित करते हैं, जबकि दो लोग सुरक्षा के लिए तैनात हैं। मशीन में डीजल और पेट्रोल के दो इंजन लगे हैं।

Spread the love