देवताओं को जाति में बांटने वालों से जनता सावधान रहे- मायावती

देवताओं को जाति में बांटने वालों से जनता सावधान रहे- मायावती

लखनऊ: बुहजन समाज पार्टी अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने हनुमान जी की जाति बताने वाले प्रकरण को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि समाज को जातियों में बांटने के बाद अब देवी देवताओं को भी जाति में बांटने की राजनीति शुरू हो गई है। सांप्रदायिकता की राजनीति फैलाने वालों से लोगों को सावधान रहना चाहिये।

मायावती ने संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि जाति और संप्रदाय की राजनीति से सामाजिक भेदभाव का खतरा गहरा गया है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भगवान हनुमान को दलित समुदाय का बताने वाले कथित बयान का जिक्र करते हुए कहा था कि वोट और चुनावी स्वार्थ की राजनीति में भाजपा के वरिष्ठ नेतागण इतना गिर गये हैं कि अब वे हिन्दू देवी-देवताओं और आस्थाओं को भी नहीं बख्श रहे हैं।

उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ का बयान चर्चा का विषय बना हुआ है और उनके इस बयान के आधार पर देश के सभी हनुमान मन्दिरों को दलित पुजारियों के हवाले करने की मांग भी उठ रही है। इन लोगों ने जाति के आधार पर पहले लोगों को बांटा और अब देवी-देवताओं को भी जाति में बांटने का फरमान जारी कर रहे हैं। ऐसे लोगों से देश की जनता को सजग रहने की जरूरत है।

Advertisement

बसपा प्रमुख ने दिल्ली स्थित अपने आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संकल्प दिलाया कि डॉ. अम्बेडकर द्वारा दिए गए संविधान में एक व्यक्ति एक वोट तथा प्रत्येक वोट का एक समान मूल्य के अधिकार को निष्प्रभावी बनाने की साजिश को सफल नहीं होने देना है।

 

Advertisement
Advertisement
Spread the love