संसद में गूंजा राम मंदिर और राफेल का मुददा

संसद में गूंजा राम मंदिर और राफेल का मुददा

नई दिल्ली: संसद के शीतकालीन सत्र तीसरे दिन भी लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों में जोरदार हंगामा हुआ। राम मंदिर, राफेल, आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग और कावेरी मुद्दों को लेकर शिवसेना, कांग्रेस, तेदेपा और अन्नाद्रमुक के सदस्यों ने लोकसभा में खूब हंगामा किया, जिस वजह से लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के कुछ मिनटों बाद ही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

संसद भवन पर हुए आतंकवादी हमले की आज 17वीं बरसी है। उच्च सदन की बैठक शुरू होते ही हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद सभापति एम. वेंकैया नायडू ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए।

इसके बाद उन्होंने कहा कि अलग अलग मुद्दों पर चर्चा के लिए उन्हें चार नोटिस मिले हैं, जिन्हें उन्होंने नोटिस स्वीकार न करते हुए कहा कि तमिलनाडु, जम्मू कश्मीर, आंध्रप्रदेश से जुड़े मुद्दों और साथ ही अन्य सभी मुद्दों पर भी सदन में चर्चा कराई जाएगी।

Advertisement

नायडू अपनी बात पूरी भी नहीं कर पाए थे कि अन्नाद्रमुक के सदस्य कावेरी नदी पर बांध बनाए जाने के विरोध में नारे लगाते हुए आसन के समक्ष आए। द्रमुक के सदस्य भी यही मुद्दा उठाते हुए अपने स्थानों से आगे आ गए।

वाईएसआर कांग्रेस के सदस्य आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग करते हुए आसन के समक्ष आ गए। अन्य दलों के सदस्य अपने अपने स्थानों से ही अपने मुद्दे उठाने की कोशिश करते रहे।

इसके बाद सभापति ने आसन के समक्ष आए सदस्यों से अपने स्थानों पर लौट जाने की अपील करते हुए कहा ‘हर मुद्दे पर चर्चा की जाएगी। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि सदन चले।’

Advertisement

अपनी बात का असर नहीं होते देख, नायडू ने बैठक दिन भर के लिए स्थगित कर दी। आपको बता दें कि बुधवार को भी इन्हीं मुद्ददों को लेकर उच्च सदन में हंगामा हुआ था और कार्यवाही बाधित हुई थी।

Advertisement
Spread the love