BSF के पूर्व जवान तेज बहादुर ने जननायक जनता पार्टी छोड़ी

BSF के पूर्व जवान तेज बहादुर ने जननायक जनता पार्टी छोड़ी, सिर्फ 3175 वोट पाकर हारे मनोहर लाल खट्टर से

जननायक जनता पार्टी (JJP) द्वारा सरकार गठन के लिए भाजपा को समर्थन देने को हरियाणा के मतदाताओं के साथ धोखा करार देते हुए बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव ने शनिवार को जजपा छोड़ दी। हम आप को बता दे की तेज बहादुर यादव ने सैनिकों को दिये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता की शिकायत करते हुए एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसके बाद 2017 में उन्हें सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से बर्खास्त कर दिया गया था।  इसके बाद वह जजपा में शामिल हुए और करनाल सीट से मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन कड़ी मुकाबले के बाद 3,175 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

इतना ही नहीं यादव ने कहा, “चुनाव से पहले ही मैंने घोषणा कर दी थी कि अगर उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन किया तो मैं जजपा छोड़ दूंगा.” यादव ने सरकार गठन के लिये भाजपा को समर्थन देने के लिये जजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि यह साफ हो गया है कि जजपा, भाजपा की बी-टीम है. उन्होंने कहा, “उन्होंने भाजपा को समर्थन देकर मतदाताओं को धोखा दिया है.” बीएसएफ के पूर्व जवान ने कहा, “जजपा को वोट देने वाली जनता उसके इस कदम का विरोध कर रही है. जब से जजपा ने भाजपा को समर्थन देने का ऐलान किया है तभी से बड़ी संख्या में पार्टी समर्थक उनके झंडे और पुतले जला रहे हैं.”

Spread the love