आ गया आयोध्या मामले में पर फैसला, क्या राम मदिर बनाने का संकेत दे रहा सुप्रीम कोर्ट

आ गया अयोध्या मामले पर फैसला, सुप्रीम कोर्ट ने कहा बनेगा मंदिर

सुप्रीम कोर्ट में चल रहे भारत के सबसे पुराने विवाद राम जन्म भूमि और बाबरी मस्जित जमीन विवाद का फैसला आ गया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा विवादित ढांचे की ज़मीन हिन्दुओं की दी जाए और मस्जित  दूसरी जमीन दी जाएगी।

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की मुख्या बाते :

केंद्र सरकार तीन महीने में योजना तैयार करेगी. योजना में बोर्ड ऑफ ट्रस्टी का गठन किया जाएगा।  फिलहाल अधिग्रहीत जगह का कब्जा रिसीवर के पास रहेगा।  सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड जमीन मिले।

मुस्लिम पक्ष यह सिद्ध नहीं कर पाया कि उनके पास जमीन के मालिकाना हक का एक्सक्लूसिव अधिकार था। हाईकोर्ट ने ज्वांइट पजेशन के आदेश दिए थे. संविधान कभी धर्म में भेदभाव नहीं करता।

मुसलमानों को मस्जिद के लिए दूसरी जगह मिलेगी।

मुस्लिमों का बाहरी अहाते पर अधिकार नहीं रहा. सुन्नी वक्फ बोर्ड ये सबूत नहीं दे पाया कि यहां उसका एक्सक्लूसिव अधिकार था। – सीजेआई

मुस्लिमों का बाहरी अहाते पर अधिकार नहीं रहा। सुन्नी वक्फ बोर्ड ये सबूत नहीं दे पाया कि यहां उसका एक्सक्लूसिव अधिकार था। – सीजेआई

सुन्नी बोर्ड का यह कहना है कि बाबरी मस्जिद के निर्माण से लेकर ढहाए जाने तक नमाज पढ़ी जाती थी। बाहरी प्रांगण में हिंदुओं द्वारा पूजा का एक सुसंगत पैटर्न था।  दोनों धर्मों द्वारा शांतिपूर्ण पूजा सुनिश्चित करने के लिए एक रेलिंग की स्थापना की गई।  1856-57 से पहले आंतरिक अहाते में हिन्दुओं पर कोई रोक नहीं थी।

Spread the love