हिंसा करने वाला मुख्यमंत्री बन गया, ये इस लोकतंत्र की खूबसूरती है - अखिलेश यादव

हिंसा करने वाला मुख्यमंत्री बन गया, ये इस लोकतंत्र की खूबसूरती है – अखिलेश यादव

Advertisement

समाजवादी पार्टी मुख्यालय में एकत्र हजारों नौजवानों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा की बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया। पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे। छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकना का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है।  बता दे की अखिलेश यादव ने बिना कारण पुलिस लाठीजार्च में सांसद  धर्मेन्द्र यादव सहित कई साथियों के घायल होने पर चिंता जताई और प्रशासन की बर्बरता की निंदा की।

हम आप को बता दे की अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के पास युवाओं की शानदार और जानदार ऊर्जा है। छात्र-युवा भाजपा की तानाशाही नीतियों एवं अलोकतांत्रिक आचरण का हर स्तर पर जवाब देंगे। हम लाठी खाएंगे पर पीछे भी नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा यह लड़ाई बड़ी है, संघर्ष-आन्दोलन में जोखिम उठाने में घबराना नहीं है। हमारी एकजुटता और संकल्पशक्ति ही हमें विजय दिलाएगी। 

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि भाजपा से हमें सावधान रहना है। भाजपा अनर्गल प्रलाप और झूठे आंकड़े पेश करने में अव्वल है। वह दो शपथ लेती है एक संविधान की पर दूसरी जिस पर अमल करती है वह आर.एस.एस. की शपथ है। सरदार पटेल ने इस पर बंदिश लगाई थी क्योंकि अराजकता, आगजनी, अफवाह फैलाने के उस पर आरोप थे। मुख्यमंत्री जी समाजवादियों पर अराजक होने का आरोप लगाते हैं जबकि हकीकत में मुख्यमंत्री जी राजनीतिक स्वार्थ साधन में कुछ भी कर सकते हैं। समाजवादियों पर जो इल्जाम लगाते हैं खुद उन पर ही लागू होते हैं। 

Advertisement

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज कहा कि जो सरकार छात्रों-नौजवानों से घबराती है उसकी पराजय अवश्यंभावी है। भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। किसान, नौजवान, व्यापारी, अल्पसंख्यक सभी परेशान हैं। सन् 2019 की लोकसभा की और सन् 2022 में विधानसभा के चुनावों की लड़ाई हमें मजबूती से लड़नी होगी। इसके लिए हर बूथ पर एकजुट होकर जीत दर्ज करानी है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उनको प्रयागराज में इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ के कार्यक्रम में जाने से रोकने में केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकारों की मिली भगत थी। वह कार्यवाही पूर्णतया अवैधानिक थी। उन्होंने कहा कि वे तो नौजवानों से मिलने जा रहे थे। जो सरकार उनसे घबराती है वह कितने दिन अपनी खैर मनाएगी।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की सरकारों ने कोई ऐसा काम तो किया नहीं कि कहीं कोई बदलाव दिखे। दूसरे देश जो हमारे साथ अथवा बाद में आजाद हुए वे प्रगति में काफी आगे निकल गए हैं। यहां युवा शक्ति के पास रोजगार नहीं है। भाजपा की सरकार जाएगी तो नौजवानों को रोजगार भी मिलेगा और किसानों के साथ न्याय होगा। व्यापारी और महिलाएं सुरक्षित होगी। समाज के हर वर्ग को सम्मान और आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा। समाजवादी सरकार में एक्सप्रेस-वे बनी जिससे करोड़ों में राजस्व मिलेगा। उसके किनारे मंडियां बनाने की योजना से उससे किसान, व्यापारी और उपभोक्ता सभी को लाभ होता। भाजपा का एजेन्डा विकास रोकना, समाज में नफ़रत फैलाना है। जनता चुन-चुन कर एक-एक का हिसाब इस चुनाव में भाजपा से लेगी।

Advertisement
Spread the love