Dr. Rahat Indori education , birth and biography in hindi

डा. राहत इंदौरी जी की जीवन परिचय

आज कल शेरो शायरी जगत के मसहूर शायर और गीतकार जिसके बारे में लोग जानने होड़ मची है जिन्हे आज कल के सायर अपना गुरु मानते है। जी हां मै राहत इंदौरी के बारे में बात कर रहा हूँ। राहत इंदौरी सुप्रसिद्ध शायर और गीतकार है। उन्होने इस्लामिया करीमिया कॉलेज इंदौर से 1973 मेन स्नातक की पढ़ाई पूरी की। 1975 में भोपाल के बरकत उल्लाह विश्वविद्यालय से उर्दू साहित्य में एमए किया। इसके बाद भुज विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री हासिल की। उन्होने महज 19 वर्ष की उम्र में उन्होने शेर पेश करने शुरू कर दिये थे। देश – विदेश में उनकी शायरी के बहुत से मुरीद है। उन्होने फिल्मी गीत भी लिखे है। इनमें खुद्दार, सर, मुन्नाभाई एमबीएस सहित कई फिल्में शामिल है।

जाने उनके जन्म और शिक्षा के बारे में

डा. राहत इंदौरी का जन्म 1 जनवरी 1950 को इंदौर, मध्य प्रदेश में हुआ था। उनके पिता का नाम रफ्तुल्लाह कुरैशी जोकि कपड़ा मिल के कर्मचारी थे उनकी माता का नाम मकबूल उन निशा बेगम था। उन्होने डी बार शादी की। उनकी पत्नियों के नाम अंजुम रहबर (1988-1993), सीमा राहत है। उनके बच्चों के नाम बेटों का नाम फ़ैसल राहत, सतलज़ राहत तथा उनकी बेटीका नाम शिब्ली इरफ़ान है।

उनकी प्रारंभिक शिक्षा नूतन स्कूल इंदौर में हुई। उन्होंने इस्लामिया करीमिया कॉलेज इंदौर से 1973 में अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की और 1975 में बरकत उल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल से उर्दू साहित्य में एमए किया। तत्पश्चात 1985 में मध्य प्रदेश के मध्य प्रदेश भोज मुक्त विश्वविद्यालय से उर्दू साहित्य में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की।

राहत इंदौरी ने देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर में उर्दू साहित्य के प्राध्यापक भी रह चुके हैं। उन्होने महज 19 वर्ष की उम्र में उन्होने शेर पेश करने शुरू कर दिये थे। देश – विदेश में उनकी शायरी के बहुत चाहने वाले है और बड़े बड़े स्टेज पर अपनी शायरी पढ़ा करते है।

एक बेहतरीन शायर और उनकी शायरी पढ़ने का अंदाज़

राहत इंदौरी की शायरी का अंदाज़ बहुत ही दिलकश होता है। वे अपनी लोकप्रियता के लिये कोई ऐसा सरल रास्ता नहीं चुनते जो शायरी की इज़्ज़त को कम करता हो। राहत जब ग़ज़ल पढ़ रहे होते हैं तो उन्हें देखना और सुनना दोनों एक अनुभव से गुज़रना है। राहत के भीतर का एक और राहत इस वक़्त महफ़िल में नमूदार होता है और वह एक तिलिस्म सा छा जाता है। राहत मुशायरों के ऐसे हरफनमौला हैं जिन्हें आप किसी भी क्रम पर खिला लें, वे बाज़ी मार ही लेते हैं। उनका माईक पर होना ज़िन्दगी का होना होता है। यह अहसास सुनने वाले को बार-बार मिलता है कि राहत रूबरू हैं और अच्छी शायरी सिर्फ़ और सिर्फ़ इस वक़्त सुनी जा रही है।

डा. राहत इंदौरी जी की प्रसिद्ध फ़िल्मी गीत

  1. आज हमने दिल का हर किस्सा (फ़िल्म- सर)
  2. चोरी-चोरी जब नज़रें मिलीं (फ़िल्म- करीब)
  3. देखो-देखो जानम हम दिल (फ़िल्म- इश्क़)
  4. नींद चुरायी मेरी (फ़िल्म- इश्क़)
  5. तुमसा कोई प्यारा कोई मासूम नहीं है (फ़िल्म- खुद्दार)
  6. खत लिखना हमें खत लिखना (फ़िल्म- खुद्दार)
  7. रात क्या मांगे एक सितारा (फ़िल्म- खुद्दार)
  8. दिल को हज़ार बार रोका (फ़िल्म- मर्डर)
  9. एम बोले तो मैं मास्टर (फ़िल्म- मुन्नाभाई एमबीबीएस)
  10. धुंआ धुंआ (फ़िल्म- मिशन कश्मीर)
  11. ये रिश्ता क्या कहलाता है (फ़िल्म- मीनाक्षी)
  12. मुर्शिदा (फ़िल्म – बेगम जान)

डॉ. राहत इंदौरी मशहूर शायरी ( Famous Shayari and gazal )

5 April 9 Bje 9 minute aao phir se deep jlaye

कोरोना COVID-19 के खिलाफ एक जुट होने, मरीजों और देश की सेवा और व्यवस्था में लगे लोगो का हौसला बढ़ाने के लिये प्रधानमंत्री द्वारा आम भारतीय जनता का आवाहन किया है
इसको लेकर अलग अलग मतभेद है .. लेकिन इस समय सब यही चाहते है की ये COVID-19 वायरस कैसे भी कर के इस देश दुनिया से खत्म हो और सब अपना जीवन सुख के साथ व्यतीति करे

ये भी पढ़े कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिये लॉकडाउन ज़रूरी है

इससे जुड़े वीडियो और ट्रेंडिंग ट्वीट्स आप को यह मिलेंगे

#trending 5 April 9 Bje 9 Minute

प्रधानमंत्री द्वारा शेयर की गई कविता अटल विहारी बाजपेयी की है
आओ फिर से दिया जलाये की लिरिक्स

भरी दुपहरी में अंधियारा,
सूरज परछाईं से हारा,
अंतरतम का नेह निचोड़ें, बुझी हुई बाती सुलगाएं।
आओ फिर से दिया जलाएं।
हम पड़ाव को समझे मंजिल,
लक्ष्य हुआ आंखों से ओझल,
वर्तमान के मोहजाल में आने वाला कल न भुलाएं।
आओ फिर से दिया जलाएं।
आहुति बाकी, यज्ञ अधूरा,
अपनों के विघ्नों ने घेरा,
अंतिम जय का वज्र बनाने, नव दधीचि हड्डियां गलाएं।
आओ फिर से दिया जलाएं।

Bulati hai magar Jane ka nhi memes rahat induari

राहत इन्दौरी की उर्दू में कविता जो आज कल बहुत ही चल रही है। जो की वो अपने बहुत से मुसायरा और गजल प्रोग्राम में सुनते है। राहत इन्दौरी साहब की बहुत ही खबूसूरत रचना .. गजल कहो या कविता बुलाती है मगर जाने का नहीं .. नहीं की उर्दू में नई।

ये भी पढ़े : Meri nigaah mein wo shakhs aadmi bhi nahi – Dr. Rahat Indori की मसहूर gazal

बुलाती है मगर जाने का नईं
वो दुनिया है उधर जाने का नईं

ज़मीं रखना पड़े सर पर तो रक्खो
चलो हो तो ठहर जाने का नईं

है दुनिया छोड़ना मंज़ूर लेकिन
वतन को छोड़ कर जाने का नईं

जनाज़े ही जनाज़े हैं सड़क पर
अभी माहौल मर जाने का नईं

सितारे नोच कर ले जाऊँगा
मैं ख़ाली हाथ घर जाने का नईं

मिरे बेटे किसी से इश्क़ कर
मगर हद से गुज़र जाने का नईं

वो गर्दन नापता है नाप ले
मगर ज़ालिम से डर जाने का नईं

सड़क पर अर्थियाँ ही अर्थियाँ हैं
अभी माहौल मर जाने का नईं

वबा फैली हुई है हर तरफ़
अभी माहौल मर जाने का नईं

ये भी पढ़े : Dr. Rahat Indori education , birth and biography

bulati hai magar jaane ka nahi meme meaning and origin. bulati hai magar jaane ka nahi image, sticker, and photo download for status. bulati hai magar jaane ka nahi shayari.

bulati hai magar jaane ka nahi photo

Bulati hai magar jane ka nhi funny memes and image.

इसी कविता के साथ बना भोजपुरी गाना जो की ट्रेंडिंग हो रहा है Bulati Hai Magar Jane Ka Nahi Bhojpuri Hit songs lyric in hindi.

bulati hai magar jaane ka nahi status

राहत इन्दौरी
बुलाती है मगर जाने का नईं *
ये दुनिया है इधर जाने का नईं

मेरे बेटे किसी से इश्क़ कर
मगर हद से गुजर जाने का नईं

bulati hai magar jaane ka nahi image

सितारें नोच कर ले जाऊँगा
में खाली हाथ घर जाने का नईं

वबा फैली हुई है हर तरफ
अभी माहौल मर जाने का नईं

वो गर्दन नापता है नाप ले
मगर जालिम से डर जाने का नईं

bulati hai magar meme

*नईं – नईं का मतलब पुरानी उर्दू में नहीं होता है
*वबा – महामारी

Bulati hai magar Jane ka nhi memes

Paheliyan in Hindi with Answer

Paheliyan bujho to jane with answer in Hindi

Majedar paheliyan in hindi with answer. Bujho tho jane, jasoosi wali pahli answer ke sath. Latest Riddles in Hindi with Answers.

Top 10 Paheli in Hindi

  1. तुम्हारे घर में मेरा बसेरा, दिन रात सुबह सवेरा है मेरा |
    करती नया शाम सवेरा, रोज नए मीठे गीत से |

Answer: घडी

2. काले नागो से भरी टोकरी, सब के मुँह पर दी चिंगारी
दबो से घर से निकले, फिर साइड में दे मारो सर उसका

Pahlei Answers: माचिस

3. बीमारी नहीं कोई, फिर भी खाती है दवाई गोली |
सुन बोली डर जाते सब मेरी हैं
Answers: Gun/बन्दूक

4. हरी हरी मछली उसका हरा हरा अंडा बताओ नहीं तो मारु डंडा

Answers: मटर

5. हमने देखा अजीब नजर, सूरज के सामने रहता खड़ा |
कड़ी धुप मे जरा नहीं घबराता, न देखे धूप तो लटक जाता उसका मुँह||

Answer: Sunflower/सूरजमुखी

majedaro pahlei

6.आगे से कटीला पीछे से गत गठीला . तुम जो हाथ लगाओ तो ठहर नहीं पाओ

Anser: बिच्छू

7. परत परत पर जमा है ज्ञान खजान नहीं लियो तो पड़ा रहेगा योही

Answers: Book / किताब

8. कला घोड़ा सफ़ेद सवारी एक उतरा तो अब दूसरे के बारी

Answer: तवा रोटी

Paheli in Hindi निचे पढ़े

9. अब एक पहेली आप के लिया जिसका जवाब आप कमेंट बॉक्स में देंगे, Paheli in Hindi निचे पढ़े.

दो ऐसा जवाब जो सब का एक हो?
एक लड़की का नाम?
एक दवा का नाम ?
एक मिठाई का नाम ?
एक फिल्म का नाम?

Aap ka kya jwab hai?

10. वो क्या है जो पानी में गिरने पर भी गिला नहीं होता है बूझो तो जाने. अपना जवाब सवाल के साथ कमेंट बॉक्स में दो

11. वो कोनसी चीज जो धुप में भी नहीं सूखती है

12. पति की वो कोनसी बात है जो दुनिया को दिखित है लेकिंन पति को नहीं दिखती है

13. मेरी भाभी के भाई की सास मेरी मम्मी की क्या लगेगी

14. एक कमरे में सात सौ लोग सो रहे रहे थे सभी सो रहे थे कितने बचे

15. गोल हूँ पीला हूँ पर लडडू नहीं, खट्टा मीठा हूँ पर इमली नहीं, तो जानो क्या हूँ मैं ?

16. ऐसा कोनसा फल है जो ख़रीदा नहीं जा सकता है

17. ना ये घोडा हाथी ऊंट , खाये ना घास दाना, सदा ही जमीन पर चले, होये ना कभी नीरस|

18. एक राजा की चार रनिया, रहते सारे हरदम साथ और करते है सांझे में सारा काम

अगर आप के पास है तो आप हमे बुझाओ, हम देंगे खोजेगे आप के सवालों के जवाब. और आप हमारी मजेदार hindi paheliyan को दुसरो के साथ शेयर करे और जाने उनको बुद्धि में कितनी शक्ति है.

पहेली आप की सोचने और समझने की शक्ति को बढ़ा देती है ये वो तरीका है जो आप के बच्चों को मजे मजे में बहुत कुछ सीखा देता है

MANN MEIN SHIVA LYRICS IN HINDI

MANN MEIN SHIVA Panipath Songs LYRICS IN HINDI

चमके सितारे देखो हमारे
शत्रु तो सारे हारे जय हो
हम वो सिपाही जो है सदा ही
रूप शिवा का धारे जय होहे आज अंधेरे छटे हैं
कम हुए हैं घाटे हैं
कल जो दुश्मन यहाँ थे
आज पीछे हटे हैंगाती ये धरती है
गाता ये अम्बर है
गाती है सारी हवातेरे मन में शिवा
मेरे मन में शिवा
साँसों में शिवा
प्राणो में शिवा
हर घड़ी में शिवा
हर दिशा में शिवा
आज गूँजा हुआ है
जय जय शिवा

तेरे मन में शिवा
मेरे मन में शिवा
साँसों में शिवा
प्राणो में शिवा
हर घड़ी में शिवा
हर दिशा में शिवा
आज गूँजा हुआ है
जय जय शिवा
तेरे मन में शिवा

हर हर महादेव
हर हर हर महादेव
हर हर महादेव
हर हर हर महादेव
हर हर महादेव
हर हर हर हर महादेव

सारी दीवारें भी सारी तलवारें भी
तुमने दुश्मन की अब तोड़ दी हैं
आयी थी आँधियाँ जिस दिशा से यहाँ
उस दिन मोड़ दी है

जीतना था हमें
हारना था उन्हें
ये तो होना ही था सुन ले भाऊ
रात ढालनी ही थी
दिन निकलना ही था
ये तो होना था भाऊ

हो अपना जीवन निराला है
इसको हमने ही ढाला है
वीरता की वो ज्वाला है
जिसको सीने में पाला है

कहती ये ज्वाला है
कहता ये जीवन है
कहता समय है सदा

तेरे मन में शिवा
मेरे मन में शिवा
साँसों में शिवा
प्राणो में शिवा
हर घड़ी में शिवा
हर दिशा में शिवा
आज गूँजा हुआ है
जय जय शिवा

तेरे मन में शिवा
मेरे मन में शिवा
साँसों में शिवा
प्राणो में शिवा
हर घड़ी में शिवा
हर दिशा में शिवा
आज गूँजा हुआ है
जय जय शिवा
तेरे मन में शिवा

हाँ मर्द मराठी माटी चा
छत्रपति सह्याद्रि जहा
आथ्वे शिवाजी राजा जा
मंडी तो तुम शिवराया
राहु देख पीछि छाया
आढ़वे शिवाजी राजा जगा

क्यूँ ना हम हो मगन
क्यूँ ना झूमें ये मन
भाग्य बदल डाल हमने
आज एक जीत की धरती से
प्रीत की पहनी माला है हमने

पार उतरना ही था
ये तो करना ही था
ये तो होना ही था सुनले भाऊ
उनको जाना ही था
हमको आना ही था
ये हो होना था भाऊ

हो देश भी आज अपना है
देश पे राज अपना है
अपना ही तो शिंघासन है
अब तो है ताज अपना है

हिम्मत की अग्नि में
लोहा पिघलता है
विश्वास हमको हुआ

तेरे मन में शिवा
मेरे मन में शिवा
साँसों में शिवा
प्राणो में शिवा
हर घड़ी में शिवा
हर दिशा में शिवा
आज गूँजा हुआ है
जय जय शिवा

तेरे मन में शिवा
मेरे मन में शिवा
साँसों में शिवा
प्राणो में शिवा
हर घड़ी में शिवा
हर दिशा में शिवा
आज गूँजा हुआ है
जय जय शिवा
तेरे मन में शिवा

हर हर महादेव
हर हर हर महादेव
हर हर महादेव
हर हर हर महादेव
हर हर महादेव
हर हर हर हर महादेव

Panipat movie song

Sapna Hai Sach Hai Lyrics in Hindi

सपना है सच है

Sapna Hai Sach Hai Lyrics in Hindi of panipath movie latest song

सपना है सच है कि जादू है या जाने क्या है
बहता समय एक पल को यहीं थम गया है

लगता है था लिखा
तू है मेरे लिए
और मुझे भी तेरा होना ही था

कितने दिन था ये मंतर सा
जीना हर पल था दूभर सा
कल जीवन था सूना सूना
सुख का बादल अब है बरसा

जैसे पंछी अंबर पाए
जैसे नदिया सागर पाए
ऐसे मैने तुमको पाया
जैसे राधा गिरधर पाए

लगता है था लिखा
तू है मेरे लिए
और मुझे भी तेरा होना ही था

जागी आशा कब की सोई
तुम हो मैं हूँ, और ना कोई
दूर कहीं पर अपना हो घर
सोचूँ मैं ये खोई खोई

कहने को जो मेरा मन है
अब वो तेरा सिंघासन
तेरा पहरा इन साँसों पर
तेरी जोगन ये धड़कन है

लगता है था लिखा
तू है मेरे लिए
और मुझे भी तेरा होना ही था

Panipat movie song

Mard Maratha Lyrics in Hindi

युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे

ये मर्द मराठा रे

हे बोले धरती जयकारा
गगन है सारा गूंजा रे
जग में लहराया न्यारा
ध्वज है हमारा ऊंचा रे

हम वो योद्धा वो निडर
हम जो भी दिशा में जाएं
सारे पथ चरण छुएं और
पर्वत शीश नवाये
रास्ते से हट जाएं
नदियां होके हवाएं

हम हैं जियाले जीतने को हम
रन मैं उतरते हैं
हम सूरज हैं अंत हमी
रातों का करते हैं
युग युग की जंजीरों को हमने ही
काट रे
बोल उठा ये जग सारा
जय मर्द मराठा रे

जो रक्त है तन में बहता
वो हमसे है ये कहता
सम्मान के बदले जान भी दें
तो नही है घाटा रे

युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे
युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे

वीरता हमने बोई और ये फल पाया
दूर तक अब है फैली अपनी ही छाया

हो.. जीवन जो रणभूमि रे करता है तांडव
आज उसी ने है विजय का नगाड़ा बजाया
अपनी है जो गाथा अब है समय सुनाता
सब को है ये बताता कैसे सुख हमने बाटा रे

युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे
युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे

हम्म..

सच के सिपाही अलबेले राही
क्या जानते हो तुम
जब तुम नही थे हम कब यहीं थे
हम भी थे जैसे घूम
तुम ध्यान में थे तुम प्राण में थे
जैसे जन्म जन्म
जब तीर तुमपे बरसे तो
जैसे घायल हुए थे हम

हो.. देखो तो मुझसे कह के
मैं जान दे दूं तुम पे
क्या तुम नहीं ये जानते
दुविधा के आगे जब नारी जागे
हिम्मत से काम ले
चूड़ी उतार कंगन उतार तलवार थाम ले

मैंने ली आज शपथ है
वीरों का पथ है मेरा रे
लक्ष्य अपना जो बना लूँ
वहीं पे डालूं डेरा रे

हम वो योद्धा वो निडर
हम जो भी दिशा में जाएं
सारे पथ चरण छुएं और
पर्वत शीश नवाये
रास्ते से हट जाएं
नदियां होके हवाएं

हम हैं जियाले जीतने को हम
रन मैं उतरते हैं
हम सूरज हैं अंत हमी
रातों का करते हैं
युग युग की जंजीरों को हमने ही
हिन्दीट्रैक्स
काट रे
बोल उठा ये जग सारा
जय मर्द मराठा रे

जो रक्त है तन में बहता
वो हमसे है ये कहता
सम्मान के बदले जान भी दें
तो नही है घाटा रे

युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे
युग युग की जंजीरों को हमने ही काटा रे
बोल उठा ये जग सारा जय मर्द मराठा रे

जानिए कितना प्यार करती है आपकी पत्नी, रखे ये ध्यान

यदि आप यह सचमुच में जानने को बेताब हैं कि आपकी पत्नी आपको प्यार करती है या नहीं, तो बस यह गौर कीजिए कि वह कितनी बार आपको गले लगाती हैं या आपका चुंबन लेती है। ‘डेली मेल’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट में एक नए सर्वेक्षण के हवाले से बताया गया है कि महिलाएं अगर अपने पति से प्यार करती हैं, तो उन्हें गले लगाती है और चुंबन लेती हैं और नखरे भी कम दिखाती हैं।

अध्ययन में पाया गया कि पुरुष स्वभाव से रोमांटिक नहीं होते हैं और वे घर के कामकाज में योगदान देकर अपना प्यार जाहिर करते हैं। इस सर्वेक्षण में 168 दंपतियों को शामिल किया गया। पुरुषों ने विभिन्न तरीकों से अपनी भावनाएं महिलाओं को जाहिर की।

एक ओर जहां महिलाओं ने नकारात्मक विचार और भावनाएं छिपाकर प्यार प्रदर्शित किया, वहीं दूसरी ओर पुरुषों ने कपड़े धोने जैसे घर के कामकाज में हाथ बंटाकर या कामुक क्रियाओं की शुरुआत करके अपना प्यार जाहिर किया। वैसे पति जो अपनी पत्नी से अधिक प्यार करते हैं, उनके सहवास करने की अधिक संभावना होती है। इस बारे में अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि यह इस विचार का समर्थन करता है कि पुरुषों द्वारा अपने प्यार को प्रकट करने का यह एक अहम माध्यम है।