यूपी में गठबंधन की तस्वीरें साफ होती आ रही हैं नज़र

गठबधंन की तस्वीर साफ होगी

लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन के लिए शुरू हुई कोशिश में उत्तर प्रदेश में केवल सपा और बसपा ही एक साथ आते हुए दिखाई दे रही हैं, लेकिन कांग्रेस भी साथ होगी यह स्थिति पूरी तरह से साफ नहीं हो पाई है।

इससे भविष्य में होने वाले गठबंधन की तस्वीर काफी हद तक साफ होती दिखाई देने लगी है।

Advertisement

15 जनवरी को बसपा सुप्रीमो का है जन्मदिवस

बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन पर 15 जनवरी को विपक्षी दलों का बड़ा जमावड़ा लखनऊ में हो सकता है। इसके लिए अंदर ही अंदर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं,और यह भी हो सकता है की इस समारोह में कई पार्टी के नेताओं को भी बुलाया जा सकता है।

कहा तो यह भी जा रहा है कि मायावती इसी दिन लोकसभा के लिए चुनावी अभियान के शुभारंभ की घोषणा भी कर सकती हैं।

Advertisement

मायावती काफी समय बाद लखनऊ लौट रही हैं

मायावती लखनऊ आने के बाद संगठन विस्तार की समीक्षा करेंगी और इस दौरान पश्चिमी यूपी में भीम आर्मी की गतिविधियों के बारे में भी पदाधिकारियों से रिपोर्ट लेंगी।

सूत्रों का कहना है कि इसके आधार पर पार्टी कार्यकर्ताओं को तैयारियां करने का निर्देश दे दिया गया है।

Advertisement

मायावती काफी समय बाद लखनऊ लौट रही हैं। उनके जनवरी के पहले हफ्ते आने की संभावना जताई जा रही है। राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के चुनावी परिणामों के बाद मायावती का कद बढ़ा है। इसीलिए भाजपा के खिलाफ होने वाले गठबंधन में मायावती की भूमिका काफी अहम मानी जा रही है।

Advertisement
Spread the love