Shailputri-mata-puja-vidhi-mantra-aarti-mantra

Mata shailputri

माँ शैलपुत्री की आरती नवरात्री के पहले दिन की पूजा के लिये। जय शैलपुत्री माता लिरिक्स। शैलपुत्री मां बैल असवार। करें देवता जय जय कार। शिव-शंकर की प्रिय भवानी । तेरी महिमा किसी ने न जानी

शौलपुत्री माता की आरती

शैलपुत्री मां बैल असवार | करें देवता जय जय कार ।।

शिव-शंकर की प्रिय भवानी | तेरी महिमा किसी ने न जानी ।।

पार्वती तूं उमा कहलावे | जो तुझे सुमिरे सो सुख पावें ।।

रिद्धि सिद्धि परवान करे तू || दया करे धनवान करे तू ।।

सोमवार को शिव संग प्यारी | आरती जिसने तेरी उतारी ।।

उसकी सगरी आस पुजा दो | सगरे दुःख तकलीफ मिटा दो ।।

घी का सुंदर दीप जला के | गोला गरी का भोग लगा के ।।

श्रद्धा भाव से मंत्र जपायें | प्रेम सहित फिर शीश झुकायें ।।

जय गिरराज किशोरी अम्बे | शिव मुख चन्द्र चकोरी अम्बे ।।

मनोकामना पूर्ण कर दो | चमन सदा सुख संम्पति भर दो ।।

नवरात्री के पहले दिन माता शैलपुत्री की पूजा के दौरान यह आरती विशेष रूप से गायी जाती है । देखे  चैत्र नवरात्री  या  शरद नवरात्री के दूसरे दिन की पूजा विधि आरती मंत्र और व्रत कथा।

Spread the love