Diseases caused by eating tobacco and harmful effects on health

तम्बाकू खाने से होने वाली बीमारियां और स्वास्थ्य पर होने वाले हानिकारक प्रभाव

तम्बाकू का सेवन करने से हमारे शरीर व सेहत बहुत हानिकारक प्रभाव पड़ता है। आप सभी पता होना चाहिए कि – तम्बाकू का ही एक रूप होता है गुटखा , जिसे कत्था और सुपारी को मिलाकर तैयार किया जाता है। इसके साथ ही एक ऐसा जहरीला कैमिकल मिलाया जाता है जो धीरे-धीरे असर करता हुआ मुंह से लेकर बॉडी दूसरे जरूरी अंग  पर प्रभाव करने लगता है। वैसे तम्बाकू खाने से कैंसर होता है और ये बात हर आदमी जानता है लेकिन इससे ऐसी बहुत सी बीमारियां हो जाती हैं जिसका अंदाजा भी आपको नहीं होगा अगर है तो  कृपया आज ही आप तम्बाकू छोड़ दें।

जाने कब है विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2020 (World No-Tobacco Day) 

आईये जाने तम्बाकू खाने के क्या क्या नुकसान है।

  • लगातार गुटखे या तम्बाकू का सेवन आपके दांत को ढीले और कमजोर बना देते हैं. बैक्टीरिया दांतों में जगह बना लेते हैं जिससे दांतों का रंग बदलने लगता है और धीरे-धीरे दांत गलने भी लगते हैं।
  • शरीर के एंज़ाइम्स पर भी तम्बाकू बुरा प्रभाव डालता है. इसके अलावा गुटखे में कई तरह के नशीले पदार्थों का मिश्रण होता है जिसकी वजह से शरीर के एंज़ाइम्स पर बुरा असर पड़ता है. शरीर के हर अंग में साइप-450 नाम के एंजाइम पाए जाते हैं जो हार्मोंस के उत्पादन में मुख्य भूमिका निभाता है।
  • तम्बाकू या गुटखा लगातार खाने वालों की जीभ, जबड़ों और गालों के अंदर सेंसेटिव सफेद पेच बनने लगते हैं और उसी से मुंह में कैंसर की शुरुआत होती है. जिसके बाद धीरे-धीरे मुंह का खुलना बंद हो जाता है और मुंह में कैंसर फैल जाता है।
  • गुटखा या तम्बाकू खाने से शरीर के हॉर्मोन्स को तो प्रभावित करता ही है साथ में इसे खाने से आपके डीएनए को भी बहुत भारी नुकसान पहंचता है जिसका आपको अंदाजा भी नहीं होता।
  • तम्बाकू और गुटखे से होने वाला नुकसान जिसे कैंसर कहते हैं वो सिर्फ मुंह तक ही नहीं रुकता बल्कि ये श्वासनली से होता हुआ फेफड़े तक पहुंच जाता है और इससे फेफड़े में भी कैंसर का खतरा बढ़ जाता है.
  • तम्बाकू और गुटखे की लत इंसान पर बहुत बुरा प्रभाव डालते हैं. यही लत पेट में दर्द और अल्सर जैसी बीमारियां शुरु हो जाती है. इसके साथ ही तम्बाकू खाने से एसिडिटी की शिकायत होना भी लाजमी हो जाता है।
  • तम्बाकू और गुटखे की लत महिलाओं को भी बहुत जल्दी लग जाती है. जब महिला प्रेग्नेंट होती हैं और उस समय महिला कोई भी नशीला पदार्थ का सेवन करती हैं तो उसका असर सीधे बच्चे पर पड़ता है.
  • एक खोज  में बताया गया है कि गुटखा और तम्बाकू खाने से सिर्फ कैंसर जैसी ही बड़ी बीमारी नहीं होती बल्कि इससे सेक्स लाइफ पर भी असर करता है.

तम्बाकू  खाने से आपको कुछ देर की संतुष्टि तो मिल जाएगी लेकिन जिंदगी में आप बहुत कुछ खो देते हैं. लेकिन इसे खाने से आपके अपनों पर भी असर पड़ता है. तो हो सके तो अनपे लिए नहीं, अपनों के लिए ही सही तम्बाकू या कोई भी हानिकारक पदार्थ का सेवन करना बंद कर दें।

Advertisement

तम्बाकू और धूम्रपान सम्बन्धी प्रभाओं को रोकने के लिए हर एक साल 31 May को विश्व तम्बाकू दिवस ( World No-Tobacco Day ) मनाया जाता  है या इसके उत्पादों के उपभोग पर रोक लगाने या इस्तेमाल को कम करने के लिये आम जनता को बढ़ावा और प्रोत्साहन देने के लिये पूरे विश्व भर में विश्व तंबाकू निषेध दिवस को मनाना मुख्य लक्ष्य है क्योंकि ये हमें कुछ घातक बीमारियों की ओर अग्रसर करता है जैसे (कैंसर, दिल संबंधी समस्याएँ) ,यहां तक की मृत्यु भी हो सकती है।

Advertisement
Spread the love