After all, why is Nitish government distributing condoms in quarantine centers in Bihar

आखिर क्यों बिहार में नीतीश सरकार क्वरंटाइन सेंटरों में बंटवा रही है कंडोम ?

जैसा की आप सभी जानते है कुछ दिनों से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रवासी श्रमिकों के वापसी में अपने स्टैंड के कारण बिहार और राज्य के बाहर काफी आलोचना झेली है।  लेकिन अब जिन श्रमिकों को  क्वरंटाइन  सेंटर में रखा गया है इनके आदर सत्कार में कोई कमी नहीं छोड़ी जा रही है।

हालांकि कुछ दोनों से खाने की बढ़िया इंतजाम न होना और रहने की उचित व्यवस्था न होने के कारण सैकड़ो वीडियो पिछले एक महीने में वायरल हुए। लेकिन अब नीतीश कुमार सरकार ने इन श्रमिकों को क्वरंटाइन सेंटर से विदाई के दिन एक नया तोहफ़ा देना शुरू कर दिया है। नीतीश सरकार की ओर से श्रमिकों को पैकेट कंडोम और गर्भनिरोधक गोलियों का पैकेट दिया जा रहा है।

ये भी पढ़े :  बिहार के समस्तीपुर जिले के क्वारंटीन सेंटर में हुआ नाच का आयोजन , बिहार सरकार की बड़ी लापरवाही

Advertisement

बिहार राज्य हेल्थ सोसायिटी के कार्यकारी निदेशक मनोज कुमार कहते हैं कि पूरे देश में बिहार का प्रजनन दर एक चिंता का विषय बना हुआ है जो देश में सर्वाधिक है।  उन्होंने कहा, ‘हम लोगों का अपना विश्लेषण है कि ये श्रमिक जो साल में  होली, दिपावली या छठ के समय आते हैं उसके नौ महीने के बाद सरकारी अस्पतालों में प्रसव का दर काफ़ी बढ़ जाता है’

हम आप को बता दे उन्होंने आगे कहा कि लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए इस बार क्वरंटाइन सेंटरों को लक्ष्य बनाया गया है। सरकार के निर्देश के अनुसार अब वहां कंडोम और गर्भनिरोधक गोलियों का पैकेट देकर मजदूरों को विदा किया जा रहा है।

जब से इस संबंध में जब फ़ोटो और कुछ वीडियो सामने आए तो आप सरकार की जमकर आलोचना भी हो रही है। क्योंकि पत्रकारों के सवाल के जवाब में अधिकांश श्रमिक यही कहते हैं कि उन्हें इन सबसे ज़्यादा पेट भरने के लिए और सर पर छत की ज़रूरत है। उस पर ध्यान देते तो उनके लिए ज़्यादा अच्छा होता।

Advertisement
Spread the love