समाजवादी पार्टी की बढ़ती ताकत देख बीजेपी खेमे बढ़ी हलचल

समाजवादी पार्टी की बढ़ती ताकत देख बीजेपी खेमे में बढ़ी हलचल

जैसे – जैसे लोकसभ चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे – वैसे सभी पार्टी अपनी अपनी ताकत बढाने में लगी हुई है। हल आप को बता दे की इस दौर में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सबसे आगे है और ये देख कर सूबे की सरकार में बहुत हलचल है। बात ये है की जब से यूपी में सपा – बसपा ने गठबंधन किया है तब से पुरे यूपी में एक अलग ही लहर दौर पड़ी है तथा सत्ताधारी सरकार और उनके कार्यकर्ता बहुत ही हतास हो गए है ।  सोशल मिडिया पे तरह के अपशब्द लिख कर गठबंधन को निचा दिखने की कोसिस कर रहे है। 

इन सभी को नजरअंदाज कर सपा के  राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपनी ताकत में दिन प्रति दिन और इजाफा करते जा रहे है। 

ये भी पढे : नेताजी मुलायम सिंह यादव ने मनुवादी 13 Point Roster के ख़िलाफ़ संसद भवन परिसर में प्रदर्शन किया

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की उपस्थिति में शुक्रवार को  विभिन्न दलों एवं संगठनों के प्रमुख नेताओं ने अपने सैकड़ो साथियों के साथ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की और समाजवादी पार्टी की नीतियों, कार्यक्रम तथा अखिलेश यादव के नेतृत्व के प्रति आस्था व्यक्त की। उन्होंने सन् 2019 के लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन को विजयी बनाने का भी संकल्प लिया।

ये भी पढ़े : नितिन गडकरी ने चलाया शब्दभेदी बाण, बीजेपी फिर से हुई घायल

हम आप को बता दे की समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने भाजपा के सहारनपुर देवबंद से पूर्व विधायक  शशि बाला पुण्डीर तथा हरदोई के पूर्व एम.एल.सी. अवध कुमार सिंह बागी, राष्ट्रीय जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व महासचिव एवं किसान क्रांति सेना के प्रदेश अध्यक्ष  अखिलेश कटियार, सामाजिक उद्योग व्यापार मण्डल, लखनऊ के अध्यक्ष रामबाबू रस्तोगी, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्रसंघ के उपाध्यक्ष नदीम अंसारी, युवाशक्ति मोर्चा, बांदा के  अमित शिवहरे तथा मुजफ्फरनगर के  दीपक कुमार त्यागी ‘बाबी‘ को उनके सैकड़ों साथियों सहित समाजवादी पार्टी की सदस्यता दिलाई।

इतना ही नहीं उत्तम पटेल ने  कहा की “इन आशा जताई है कि इन साथियों के आने से समाजवादी पार्टी को मजबूती मिलेगी और सन् 2019 के चुनावों में भाजपा को बुरी तरह शिकस्त दी जा सकेगी।”

ये भी पढ़े : छत्तीसगढ़ में बीजेपी के कार्यक्रमों को पत्रकार हेलमेट पहनकर कवर कर रहे है

Spread the love